What is Covered in Health Insurance in Hindi ?

Health Insurance in Chandigarh , Panchkula and Mohali

हर हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी की पॉलिसी के अंदर कुछ डिफरेंस इस होते हैं हनी में यानी उनमें कुछ सामान चीजें होंगी और कुछ चीजों में डिफरेंस होगा विरोध होगा क्या हम ऐसा कह सकते हैं कि उन कुछ पॉलिसीस के अंदर कुछ वैल्यू एडिट फीचर यानी कुछ सुविधाएं एक्स्ट्रा होंगे
हम अगर कंपनीज की बात ना करें तो अभी हम सिर्फ डिस्कस करेंगे कि स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी यानी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी क्या खबर करती है या नहीं क्या-क्या उसमें मिलता है जो चीजें नहीं मिलेगी उसको हम किसी और आर्टिकल में डिस्कस करेंगे

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी लेनी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी प्रेक्टिकली हर हर बीमित व्यक्ति के संदर्भ में कुछ आइटम्स को यानी कुछ उचित खर्चों को कवर करती है अब यह खर्चे कब आओगे जब वह प्रसन्न हॉस्पिटल में एडमिट हो रहा है यानी हॉस्पिटल में दाखिल हो रहा है अब जब बचपन हॉस्पिटल में है यानी कोई भी इंसान हॉस्पिटल में एडमिट हो जाता है तो उसका जो भी खर्चा होगा उसके अंदर एक कंडीशन है वह पूरा बीमित राशि की जो लिमिट है या नहीं सीमा है उसके अधीन नहीं होगी या नहीं उससे ज्यादा नहीं ले सकता

सबसे पहले जो खर्चा होता है वह तो हॉस्पिटल का रूम यानी कमरा या नहीं जो भी निवास का खर्चा हुआ है वह बीमा कंपनी वहन करेगी
दूसरा खर्चा होता है नर्सेज का खर्चा
तीसरा खर्चा होता है सर्जन एनेस्थेटिस्ट फिजिशियन कंसल्टेंट और स्पेशलिस्ट का खर्चा
चौथा खर्चा होते एनेस्थीसिया ब्लड यानी रक्त ऑफ सीजन ऑपरेशन थिएटर का खर्चा सर्जिकल उपकरण दवाइयां निडर किसी भी तरीके की एक्स-रे डायलिसिस कीमोथैरेपी रेडियो थैरेपी पेसमेकर का खर्चा किसी भी तरह की लागत जो उस टाइम पर ऑपरेशन के अंदर है किसी भी तरीके का कृत्य भाव यानी सर्जिकल इन प्लांट जैसे रोड दिल्ली है या किसी तरीके का स्टंट पड़ा है इस टाइप के खर्चे कब रहते हैं

हेल्थ इंश्योरेंस यानी बीमा पॉलिसी के अंदर जो चीजें नहीं कबूल होती बहुत सारी ऐसी चीजें होती हैं उनको हम किसी और पोस्ट के अंदर डिस्कस करेंगे किसी और आर्टिकल के अंदर डिस्कस करेंगे